UP इन्वेस्टर्स समिट 2018 : कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाएगी महिंद्रा

0
9

लखनऊ।  प्रदेश की आर्थिक सूरत बदलने, युवाओं को रोजगार मुहैया कराने और नए उद्योग लगाने के लिए आयोजित किया गया उद्योगपतियों और कारोबारियों का महामेला आज यानी बुधवार से लखनऊ में शुरू हो गया। मौके पर प्रधानमंत्री सहित देश के बड़े उद्योगपति मौजूद हैं।

समिट की शुरूआत में बोलेत हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के हेड मुकेश अंबानी ने कहा कि ‘हम सभी को मिलकर प्रधानमंत्री का सपना उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाना है’। इसके अलावा उन्होंने कहा कि, “2018 के अंत तक जियो उत्तर प्रदेश के हर एक गांव तक पहुंच जाएगा।” अपनी स्पीच के दौरन मुकेश अंबानी ने नमामी गंगे योजना में भी रिलायंस के भागीदारी के लिए रूची दिखाई और कहा कि, “रिलायंस फाउंडेशन ‘नमामि गंगे’ मिशन में हर तरह की मदद के लिए तैयार है।”

अंत में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के युवाओं को स्मार्ट बनाने के लिए रिलायंस लगातार काम करेगा। साथ ही उन्होंने बताया कि जियो 20000 करोड़ के निवेश के साथ उत्तर प्रदेश में अब तक का सबसे बड़ा निवेशक है और अगले तीन सालों में और 10000 करोड़ा का निवेश करेगा।

वहीं आदित्य बिरला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने 25000 करोड़ के निवेश का वादा किया है। इनकेे बाद मंच पर महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा आए। इन्होंने कहा कि, “यूपी को किसी राज्य से नहीं बल्की किसी देश से तुलना करनी चाहिए।” इसके साथ ही उन्होंने उत्तर प्रदेश में इलेक्ट्रिक कार मैन्युफैक्चरिंग कंपनी लगाने की भी बात कही।

समिट का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया जहां एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत किया गया है। प्रधानमंत्री जहां मेक-इन-इंडिया और मेक-इन-यूपी का मंत्र देंगे, वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ बताएंगे कि कैसे यूपी खुद को बदलते हुए निवेश के लिए बेहतरीन गंतव्य बन रहा है। वहीं दो दिन तक चलने वाले निवेश के इस महामेले का राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गुरुवार को समापन करेंगे और अपना खास संदेश देंगे।

समिट के जरिये करोड़ों रुपये का निवेश व लाखों लोगों के रोजगार की जमीन तैयार होगी।यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018 के लिये राजधानी लखनऊ को निवेशकों के स्वागत में दुल्हन की तरह सजाया गया है। इस अभूतपूर्व समिट का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 21 फरवरी को सबेरे 10 बजे इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में करेंगे।

प्रधानमंत्री यहीं पर प्रदर्शनी का भी शुभारम्भ और अवलोकन करेंगे। इसके बाद औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना स्वागत सम्बोधन करेंगे। उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट-2018 की थीम पर आधुनिक तकनीक से विशेष प्रस्तुतिकरण होगा।

सात पार्टनर कंट्री भाग लेंगे :  कन्ट्री पार्टनर के रूप में फिनलैण्ड, नीदरलैण्ड, जापान, चेक गणराज्य, थाईलैण्ड, स्लोवाकिया तथा मारीशस के प्रतिनिधि और उद्योगपति शिरकत करेंगे। साढ़े तीन लाख करोड़ का निवेशएक हजार से ज्यादा के एमओयू पर होगा करार यूपी में निवेश के लिए और उद्योगपतियों द्वारा प्रदेश अपना उद्योग लगाने के लिए समझौता पत्र भी हस्ताक्षरित किये जायेंगे।

राज्य सरकार ने उद्यमियों के हितपरक आकर्षक एवं व्यवहारिक औद्योगिक विकास नीति जारी की है। इसके साथ ही उद्यम स्थापना पर उद्योगपतियों को आवश्यक छूट और अन्य सुविधायें भी उपलब्ध कराने की प्रभावी पहल की गयी है। साढ़े तीन लाख करोड़ का निवेश होने की उम्मीद है। करीब एक हजार से ज्यादा के एमओयू पर करार होने तैयारी है।

अपने आप में एतिहासिक समिट : सतीश महाना प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री, सतीश महाना ने कहा है कि उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट के सफल आयोजन के लिये सभी व्यवस्थायें पूरी की जा चुकी हैं और निवेशकों को पहुंचना शुरू हो गया है। इन्वेस्टर्स समिट अपने में एक ऐतिहासिक समिट है, जिसकी सराहना देश और प्रदेश के ख्याति प्राप्त उद्योगपतियों ने की है।