अब ट्रेनों के कोच पर नहीं लगेंगे रिजर्वेशन चार्ट, प्लाज्मा स्क्रीन पर ही दिखेंगे नाम

0
10

नई दिल्ली। भारतीय रेल ने फैसला किया है कि ए, ए-वन और बी कैटिगरी के रेलवे स्टेशनों से रवाना होने वाली ट्रेनों के कोच पर रिजर्वेशन चार्ट नहीं चिपकाए जाएंगे। इन स्टेशनों पर प्लाज्मा स्क्रीन पर ही यात्री रिजर्वेशन चार्ट में अपना नाम देख सकेंगे। यह व्यवस्था 1 मार्च से शुरू होगी।

रेलवे का कहना है कि इन तीन श्रेणी के कुल स्टेशनों की संख्या लगभग 400 है। इनमें दिल्ली के भी आधा दर्जन से ज्यादा रेलवे स्टेशन शामिल हैं। इससे पहले रेलवे ने इस तरह का प्रयोग नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और हजरत निजामुद्दीन समेत देश के अलग-अलग शहरों के 6 स्टेशनों पर किया था। इस प्रयोग के बाद ही रेलवे ने तय किया है कि अब लगभग 400 और स्टेशनों पर भी चार्ट चिपकाने का कार्य बंद किया जाएगा।

रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि इस प्रक्रिया का फायदा यह होगा कि इससे कागज तो बचेगा ही, साथ ही कोच भी गंदे नहीं होंगे। इसकी जगह स्टेशनों पर अत्याधुनिक प्लाज्मा स्क्रीन लगी होंगी, जिसपर यात्रियों के कोच और सीट नंबर आते रहेंगे। इस तरह से यात्रियों को अपनी सीट नंबर देखने में भी आसानी होगी।

इसके अलावा एक और बड़ी समस्या से छुटकारा मिलेगा कि कई बार स्टेशन पर यात्री चार्ट को ही फाड़ देते हैं, जिससे दूसरे यात्रियों के लिए अपनी सीट नंबर देखना मुश्किल हो जाता है, लेकिन स्क्रीन पर ऐसी किसी तरह की समस्या नहीं होगी।

रेलवे ने जिन तीन कैटिगरी के स्टेशनों पर चार्ट लगाना बंद करने का फैसला किया है, उनमें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और हजरत निजामुद्दीन के अलावा पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, आनंद विहार, आदर्श नगर, शाहदरा और दिल्ली छावनी रेलवे स्टेशन भी शामिल हैं।