राजस्थान सरकार का 5वां बजट आज, सभी वर्गों को खुश करने की कोशिश होगी

0
10

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे आज अपने मौजूदा कार्यकाल का 5वां और अंतिम बजट पेश करेंगी। चुनावी साल होने के नाते सरकार से बजट में कुछ दमदार घोषणाओं की उम्मीद भी की जा रही है। बड़े खर्च वाली घोषणाओं के लिए गुंजाइश कम है। बजट में सबसे ज्यादा फोकस सड़क और रोजगार पर होगा।

परमेश चंद कमेटी प्रदेश में नए जिलों के लिए अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप चुकी है। सरकार डीडवाना और ब्यावर को जिला बनाने की घोषणा कर सकती है। सरकारी विभागों में करीब एक लाख पद खाली हैं। बजट में 70 हजार से ज्यादा विभिन्न संवर्ग की नौकरियों की घोषणाएं भी होंगी। अर्जुन अवार्डी और अन्य खिलाड़ियों के लिए नौकरियों में सीधी भर्ती का ऐलान किया जा सकता है।

किसान
– फसल उत्पादन बढ़ाने के लिए किसानों को मिल रहे अनुदान का प्रतिशत या लाभार्थियों की संख्या बढ़ाई जा सकती है।
– जिन फसलों में एमएसपी नहीं है उनमें से कुछ के लिए मार्केट इंटरवेंशन स्कीम लाई जा सकती है।
कारोबारी
– जीएसटी लागू होने के बाद राजस्थान निवेश प्रोत्साहन नीति ठप पड़ी है। अब इसे नए रूप में लागू करने की घोषणा संभव है।
– एमएसएमई सेक्टर के लिए भी घोषणाएं संभव है।
हेल्थ
स्वास्थ्य बीमा योजना का दायरा 3 लाख से बढ़ाकर 5 लाख किया जा सकता है।
कर्मचारी
-कर्मचारी वर्ग सरकार से काफी नाराज चल रहा है। इसे दूर करने के लिए इस बार बजट में टाइम बाउंड प्रमोशन का गिफ्ट भी मिल सकता है।
– महिला कर्मचारियों की लंबे समय से चली आ रही चाइल्ड केयर लीव मांग भी इस बजट में पूरी हो सकती है।
महिला
बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना में 14 जिलों में महिला शक्ति केंद्र खोले जाएंगे। ये महिलाओं से जुड़ी योजनाओं के लिंक के रूप में काम करेंगे।

शिक्षा
शेष  21 उपखंडों में कॉलेज खोलने की घोषणा संभव। समितियों द्वारा संचालित इंजी. कॉलेज अपने हाथ में ले सकती हैं।