बोर्ड ने दसवीं कक्षा के पदमावती पाठ में किया बड़ा बदलाव

0
3

अजमेर। पद्मावती फिल्म को लेकर देशभर में मचे बवाल और संगठनों की ओर से आपत्ति करने के बाद माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने भी अपने पाठ्यक्रम में विवादित अंश हटा दिया है। विवादित अंश मुगल शासक अलाउद्दीन खिलजी द्वारा रानी पद्मावती को दर्पण में देखने से संबंधित है।

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर करणी सेना ने पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया था। इस कारण यह फिल्म उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद ही रिलीज हो पाई। हालांकि प्रबल विरोध को देखते हुए राजस्थान सहित चार राज्यों में इस फिल्म का प्रदर्शन नहीं किया जा सका है।

10 वीं कक्षा में पढ़ते हैं पद्मावती
माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबंधित विद्यालयों में कक्षा दस की सामाजिक ज्ञान की पुस्तक में पद्मावती से संबंधित पाठ है जिसे बरसों से पढ़ाया जा रहा है। हाल ही में तथ्यों को लेकर उठे विवाद के बाद शिक्षा बोर्ड ने इस पाठ में रानी पदमावती को अलाउद्दीन खिलजी द्वारा दर्पण में देखने के विवादित अंश को हटाने का फैसला किया गया है। हालाकि पुरानी पुस्तकों में इस अशं को हटाना संभव नहीं है अलबत्ता इस पुस्तक के अगले संस्करण में इन अंशों को हटा दिया जाएगा।

विवादित अंश हटा दिए
पद्मावती को लेकर उठे विवाद और कुछ संगठनों की आपत्ति के बाद सामाजिक ज्ञान की पुस्तक से विवादित अंश हटा दिए गए हैं। दसवीं कक्षा की पुस्तक के नए संस्कारण में यह अंश नहीं होंगे।
-प्रो. बी. एल. चौधरी, अध्यक्ष माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान