एम्स में 200 सीटें बढ़ीं, परीक्षा के लिए आवेदन 5 फरवरी से

0
37

अरविंद, कोटा। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की प्रवेश परीक्षा 26 एवं 27 मई,2018 को आयोजित होगी। एम्स, नईदिल्ली के सहायक परीक्षा नियंत्रक द्वारा शुक्रवार को जारी प्रवेश सूचना के अनुसार, विद्यार्थी अधिकृत वेबसाइट www.aiimsexam.org पर 5 फरवरी से ऑनलाइन आवेदन कर विवरण देख सकेंगे। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 5 फरवरी से 5 मार्च तक होंगे।

प्रवेश सूचना के अनुसार, इस वर्ष एम्स, नई दिल्ली तथा एम्स, जोधपुर, पटना, भोपाल, भुवनेश्वर, ऋषिकेश, रायपुर के साथ नागपुर (महाराष्ट्र) तथा गुंटूर (आंध्रप्रदेश) सहित 9 एम्स में एमबीबीएस की कुल 907 सीटों पर प्रवेश दिए जाएंगे। प्रत्येक एम्स में 50 सीटें सामान्य वर्ग, 27 ओबीसी, 15 एससी, 8 एसटी एवं 3 सीटें दिव्यांग वर्ग के लिए निर्धारित हैं।

सामान्य वर्ग के लिए आवेदन शुल्क 1000 रू. तथा एससी, एसटी वर्ग के लिए 800 रू. है। दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए आवेदन निःशुल्क रहेगा। परीक्षा की पात्रता के लिए सामान्य एवं ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 12वीं बोर्ड में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी व इंग्लिश में न्यूनतम 60 प्रतिशत अंक तथा एससी, एसटी व दिव्यांग वर्ग के लिए न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य है। आवेदक को फोटो, हस्ताक्षर एवं अंगूठे का निशान स्केन कर 50 से 100 केबी की फाइल में अपलोड करना होगा।

दो पारियों में होगी ऑनलाइन परीक्षा
कम्प्यूटर आधारित प्रवेश परीक्षा देश के 29 राज्यों के 167 शहरों में निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर दो पारियों में सुबह 9ः00 बजे से 12ः30 बजे तथा अपरान्ह 3ः00 से शाम 6ः30 बजे तक होगी।

साढे़ तीन घंटे के पेपर में 200 अंकों के 200 प्रश्न पूछे जाएंगे, जिसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी के 60-60, जनरल नॉलेज के 10 तथा एप्टीट्यूड व लॉजिकल थिंकिंग के 10 प्रश्न होंगे। प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होगा तथा गलत उत्तर होने पर एक तिहाई अंक की निगेटिव मार्किंग रहेगी।

इसलिए कठिन है एम्स परीक्षा
मेडिकल की सबसे कठिन एम्स प्रवेश परीक्षा में गत वर्ष केवल 1.72 प्रतिशत विद्यार्थियों को सीट मिल सकी। एम्स-यूजी, 2017 में 3.64 लाख स्टूडेंट रजिस्टर्ड हुए थे, जिनमें से 2,84,737 ने पेपर दिया। इसमें 1.50 लाख छात्र तथा 1.34 लाख छात्राएं थी।

11 थर्ड जेंडर थे। परीक्षा में 4905 स्टूडेंट क्वालिफाई हुए, जिसमें 2209 को काउंसलिंग के लिए बुलाया गया था। एम्स,2017 एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट,कोटा की छात्रा निशिता पुरोहित में ऑल इडिया टॉपर रही। इस वर्ष एम्स में 200 सीटें बढ़ जाने से परीक्षार्थियों की संख्या 3 लाख से अधिक होने की उम्मीद है।

दो पारी के अंकों से मिलेगा परसेंटाइल स्कोर
एम्स द्वारा मेरिट सूची मे दोनों पारियों के अंकों को नॉर्मलाइज कर परसेंटाइल से ऑल इंडिया रैंकिंग दी जाती है। गत वर्ष सामान्य वर्ग की कटऑफ 99.0014 परसेंटाइल, ओबीसी में 97.4205 तथा एससी, एसटीवर्ग में 94.1220 परसेंटाइल कटऑफ रही।