सरकार का 17.50 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य, 15 मार्च से होगी शुरू

0
23

कोटा। भारतीय खाद्य निगम ने गेहूं की खरीद के लक्ष्य जारी कर दिए हैं। निगम ने प्रदेश में वर्ष 2018 में 17 लाख 50 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया है। निगम के प्रदेश स्तरीय कार्यालय से भी अपने सभी संभागीय कार्यालयों को लक्ष्य आवंटित कर दिए गए हैं।

एसफसीआई द्वारा सबसे पहले कोटा खंड के पांचों जिले (कोटा, बूंदी, बारां, झालावाड़, सवाईमाधोपुर) में 15 मार्च से गेहूं खरीद शुरू होगी। इसे लेकर निगम ने प्रारंभिक तैयारियां शुरू कर दी हैं।

एफसीआई सूत्रों ने बताया कि खरीद के लक्ष्य प्राप्त होने के साथ ही मुख्यालय को बारदाने मांग भेजी जा चुकी है। केंद्रीय भंडार निगम (सीडब्ल्यूसी), राजस्थान राज्य भंडार निगम (आरएसडब्ल्यूसी), एफसीआई के गोदामों में भी गेहूं के लक्ष्य के मुताबिक भंडारण व्यवस्था तैयारियां भी शुरू कर दी है।

सबसे पहले कोटा
प्रदेश में सबसे पहले कोटा संभाग में 15 मार्च से गेहूं खरीद शुरू की जाएगी। मार्च में 3520 मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया है।

समर्थन मूल्य 110 रुपए बढ़ाया
गेहूं खरीद के लक्ष्य आवंटित करने से पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने गेहूं खरीद का समर्थन मूल्य भी बढ़ा दिया है। गत वर्ष तक गेहूं 1625 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा गया था। अब मूल्य 110 रुपए बढ़ाकर 1735 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित कर दिया है।

फरवरी के दूसरे सप्ताह तक खरीद केंद्र
एफसीआई सूत्रों ने बताया कि गत वर्ष कोटा खंड के पांचों जिलों में 57 खरीद केंद्र खोलने के आदेश जारी हुए थे। लेकिन 52 केंद्र ही संचालित हो पाए। इनमें से एफसीआई के स्वयं के 28 में से 22 केंद्र संचालित हो पाए थे।

शेष केंद्र राजफेड ने संचालित किए। जिन केंद्रों पर गत वर्ष खरीद हुई, वहां इस साल भी केंद्र खोलने की सूची स्टेट ऑफिस भेजी है। जहां से फरवरी के दूसरे सप्ताह में लिस्ट जारी होने की संभावना है।

भारतीय खाद्य निगम कोटा के क्षेत्र प्रबंधक पवन बोत्रा कोटा संभाग में 3.52 लाख मीट्रिक टन गेहूं की 1735 रुपए प्रति क्विंटल के समर्थन मूल्य पर खरीद के लक्ष्य हैं। सीडब्ल्यूसी, आरएसडब्ल्यूसी, एफसीआई के गोदामों में भंडारण व्यवस्था है। पीडीएस में उठाव जारी है। खरीद केंद्रों की सूची फरवरी के दूसरे सप्ताह में आने की उम्मीद है।