सोना 14 महीनों में सबसे महंगा, 31450 रुपये प्रति दस ग्राम बिका

0
6

नई दिल्ली/कोटा। ओवरसीज मार्केट में मजबूती के ट्रेंड और लोकल ज्वैलर्स की तरफ से डिमांड बढ़ने से सोना 14 महीने के टॉप पर पहुंच गया। इसके चलते गुरुवार को सोने की कीमतें 350 रुपए प्रति दस ग्राम बढ़कर 31,450 रुपए प्रति दस ग्राम हो गईं।

वहीं चांदी की कीमतें 1,100 रुपए की बढ़त के साथ प्रति किलोग्राम 41 हजार रुपए के पार पहुंच। चांदी में मजबूती की वजह इंडस्ट्रियल यूनिट्स और कॉइन मेकर्स की डिमांड रही।

 इन वजहों से महंगा हुआ सोना
बुलियन ट्रेडर्स के मुताबिक सोने में तेजी की मुख्य वजह ओवरसीज मार्केट में मजबूती के साथ डॉलर में कमजोरी रही। यूएस ट्रेजरी सेक्रेटरी स्टीवन म्यूशिन के एक बयान के बाद डॉलर तीन साल के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है, जिसमें उन्होंने कमजोर करंसी का स्वागत किया था।

इसके बाद सेफ हैवन के तौर पर इस महंगी मेडल की डिमांड बढ़ी है।
ट्रेडर्स ने कहा कि लोकल ज्वैलर्स की सीजनल बाइंग की वजह से भी सोने में मजबूती आई है।
 
ग्लोबल मार्केट में भी सोने में मजबूती
ग्लोबल मार्केट की बात करें तो सिंगापुर में सोना 0.43 फीसदी चढ़कर 1,363.60 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया, जो 1 से डेढ़ साल का उच्चतम स्तर है। वहीं चांदी भई 0.29 फीसदी चढ़कर 17.58 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई।
 
 350 रुपए महंगा हुआ सोना
नेशनल कैपिटल यानी दिल्ली में 99.9 फीसदी और 99.5 फीसदी प्योरिटी वाला सोना 350 रुपए बढ़कर क्रमशः 31,450 रुपए और 31,300 रुपए प्रति दस ग्राम के स्तर पर पहुंच गया। इससे पहले यह लेवल 9 नवंबर, 2016 पर देखने को मिला था। वहीं सोने की गिन्नी (8 ग्राम) 24,800 रुपए पर स्थिर बनी रही।

सोने की तरह चांदी भी तेजी की राह पर है। चांदी 1,100 रुपए बढ़कर 41,000 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव पर पहुंच गई। वहीं वीकली बेस्ड डिलिवरी 1,190 रुपए चढ़कर 40,130 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव पहुंच गई।

कोटा सर्राफा 
चांदी 40400 रुपये प्रति किलोग्राम। 
सोना केटबरी 31300 रुपये प्रति दस ग्राम, सोना 36510 रुपये प्रति तोला। 
सोना शुद्ध 31450 रुपये प्रति दस ग्राम, सोना 36680 रुपये प्रति तोला।