जेईईमेन्स के परिणाम में कोटा के कोचिंग संस्थानों ने रचा इतिहास 

0
28

40000 पार हुई एडवांस क्वालिफाई करने वाले छात्रों  की संख्या

कोटा। जेईईमेन्स का परिणाम में कोटा के कोचिंग संस्थानों ने  इतिहास  रच दिया है।   जेईईमेन्स का परिणाम आने के बाद  कोचिंग संस्थानों में एडवांस के लिए क्वालिफाई करने वाले छात्रों की  संख्या 40 हजार को पार कर गई है। उधर, जो छात्र एडवांस के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाए हैं, वे मेन्स के जरिए मिलने वाले कॉलेजों की सीटों और काउंसलिंग की तैयारियों में लग गए हैं।

जेईई मेन्स के स्कोर के आधार पर राजस्थान के इंजीनियरिंग कॉलेजों के साथ अन्य प्रदेशों के कॉलेजों में दाखिला मिलेगा। एडमिशन आरटीयू की ओर से करवाए जाएंगे। जेईई एडवांस के रजिस्ट्रेशन भी शुक्रवार से शुरू हो गए हैं, जो दो मई तक चलेंगे। लेट फीस के साथ चार मई शाम पांच बजे तक रजिस्ट्रेशन करवाए जा सकते हैं। परीक्षा 21 मई को होगी।

500 रुपए फीस देने पर मिलेगी ओएमआर और कैलकुलेशन शीट 

छात्र अब ओएमआर और कैलकुलेशन शीट के लिए अप्लाई कर सकते हैं। आरटीअाई के लिए आवेदन कर चुके छात्रों के लिए अन्य छात्रों को ओएमआर और शीट के लिए पांच सौ रुपए का शुल्क जमा करवाना होगा। फीस बैंक ड्राफ्ट के जरिए जमा होगी। ड्राफ्ट सीबीएसई सचिव के नाम देय होगा। आवेदन एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर (जैब) जेईई यूनिट नोएडा को भेजना होगा।

सीबीएसईने यह साफ किया है कि कोई भी संस्थान और स्कूल छात्र की ओएमआर और कैलकुलेशन शीट के लिए आवेदन नहीं कर पाएगा। दरअसल, छात्र की ओएमआर और कैलकुलेशन सीट को नोटिस बोर्ड पर लगाकर स्कूल और संस्थान खुद को क्रेडिट देते हैं। यह प्रैक्टिस रोकने के लिए सीबीएसई ने यह कदम उठाया है। 

इन संस्थानों में भी दाखिला 

मेन्सस्कोर के आधार पर एनआईटी के साथ एलएनएमआईटी जयपुर, थापर पटियाला, निरमा अहमदाबाद, पीडीपीयू गांधी नगर सहित अन्य कॉलेजों में दाखिला मिलेगा। छात्र बिट्स पिलानी, वीआईटी वेल्लोर, मनीपाल मैंगलौर, आईपीयू दिल्ली, एएमयू अलीगढ़ सहित अन्य संस्थानों का एंट्रेंस भी दे सकते हैं।