सुन्दर दिखने की चाहत में पुरुषों ने महिलाओं को पीछे छोड़ा

0
12

नई दिल्ली। यह माना जाता है कि महिलाएं सजने-संवरने के के मामले में पुरुषों से आगे हैं, लेकिन एक रिपोर्ट के अनुसार सुंदर दिखने की चाहत पुरुषों में कम नहीं है। उद्योग मंडल एसोचैम की एक रिपोर्ट के अनुसार 25 से 45 वर्ष के पुरुषों ने मेकअप और ब्यूटी प्रॉडक्ट्स पर खर्च के मामले में महिलाओं को पीछे छोड़ दिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक मेल ब्यूटी प्रॉडक्ट्स का कारोबार अगले 3 साल में 45 प्रतिशत की दर से बढ़कर 35,000 करोड़ रुपये पहुंच जाने का अनुमान है। इसका कारण पुरुषों में सुदंर दिखने की चाहत और तेजी से बढ़ता शहरीकरण है। उद्योग मंडल एसोचैम की एक रिपोर्ट में यह कहा गया है।

पुरुषों के साज-सज्जा से जुड़े उद्योग का आकार फिलहाल भारत में 16,800 करोड़ रुपये है। प्रति व्यक्ति आय और शहरीकरण बढ़ने से पिछले पांच साल में बाजार 45 प्रतिशत की दर से बढ़ा है। सर्वे के अनुसार, ‘यह दिलचस्प है कि 25 से 45 वर्ष के पुरुषों ने मेकअप और ब्यूटी प्रॉडक्ट्स पर खर्च के मामले में महिलाओं को पीछे छोड़ दिया है।

छोटे शहरों के पुरुषों में बेहतर दिखने की ज्यादा ललक है। यह बात खासकर गोरापन बढ़ाने वाले उत्पादों पर विशेषतौर पर लागू है।’ उद्योग मंडल ने एक रिपोर्ट में कहा कि लाइफस्टाइल में बदलाव, पैसा आने, उत्पादों का बेहतर विकल्प आदि कारणों से भारतीय पुरुषों में ब्यूटी प्रॉडक्ट्स की मांग बढ़ रही है। पुरुषों के ब्यूटी प्रॉडक्ट्स में आय के लिहाज से फिलहाल दाढ़ी बनाने के उत्पादों का बाजार सर्वाधिक है। उसके बाद डिओडरेंट का स्थान है।