ट्रैन में यात्री अब ई-आधार कार्ड भी दिखा सकेंगे

0
7

दिनेश माहेश्वरी
कोटा। रेल यात्रियों को यात्रा के समय आधार कार्ड साथ में रखने की जरूरत नहीं है। रेलवे ने ई-आधार को आईडी प्रूफ के तौर पर मान्य कर दिया है। टीटीई और चैकिंग स्टाफ को ट्रेन में एप पर आधार कार्ड दिखाना काफी होगा। रेल मंत्रालय ने आरक्षित श्रेणी के यात्री के पहचान के तौर पर आधार कार्ड के डिजिटल प्रारूप ई-आधार को स्वीकार करने का फैसला किया है।

ई-आधार मोबाइल एप है। एप की मदद से कोई भी व्यक्ति अपना आधार कार्ड डाउन लोड कर सकता है। आधार कार्ड का डिजिटल वर्जन ई-आधार है। यह एंड्रॉयड प्लेट फार्म पर काम करता है। इस एप में यूजर्स अपना नाम, जन्मदिन, लिंग, पते और फोटो के साथ आधार नंबर को जोड़ सकते हैं।

फिर इस एप को आप आधार कार्ड की तरह ही रेल टिकट प्रूफ के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। एप को यूज करने के लिए आपका मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होना पहली शर्त है। रेलगाड़ियों में समय के वक्त अनेक यात्री कई बार मूल पहचान पत्र साथ में रखना भूल जाते हैं। ऐसे में अक्सर उन यात्रियों को बिना टिकट माना जाता है। कई बार विवाद होता है।

उधर, रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि एंड्रॉयड मोबाइल फोन के बढ़ते प्रचलन को देखते हुए अब रेलवे यात्रियों को ई-आधार की ऑन लाइन पहचान पत्र की सुविधा भी दे दी है। यात्रा के वक्त आरक्षित श्रेणी के यात्री की ओर से पहचान के तौर पर एप पर ई आधार कार्ड दिखाना ही काफी होगा।