इजराइल के पीएम नेतन्याहू भारत दौरे पर

0
8

नई दिल्ली।  इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू अपनी छह दिवसीय भारत यात्रा के लिए रविवार दोपहर दिल्ली पहुंच गए। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेतन्याहू का एयरपोर्ट पर प्रोटोकाल तोड़ते हुए गर्मजोशी से स्वागत किया।

इस दौरे में भारत और इजरायल के बीच रक्षा, कृषि, जल संरक्षण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और आंतरिक सुरक्षा समेत तमाम अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विस्तार से चर्चा होगी। पीएम मोदी के कार्यकाल में इजरायल के प्रधानमंत्री का यह पहला भारत दौरा है। 

भारत कैंसल कर चुका है डील 
इजराइल के पीएम नेतन्याहू का यह दौरा ऐसे वक्त में हो रहा है जब हाल ही में भारत ने इजरायल सरकार के नियंत्रण वाली डिफेंस कॉन्ट्रेक्टर राफेल कंपनी को दिए एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल का ऑर्डर कैंसल कर दिया था। यह डील करीब 500 मिलियन डॉलर की थी।

पीएम नेतन्याहू के इस दौरे के दौरान इस डील के बारे में एक बार फिर चर्चा संभव है। इस संबंध में शुक्रवार को भारतीय थल सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने संकेत भी दिए।  उन्होंने उम्मीद जताया कि रद्द की गई इस डील को रिवाइज किया जा सकता है। 
 
एमओयू पर होंगे हस्ताक्षर 
नेतन्याहू की भारत यात्रा पर उनके साथ 130 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी होगा। इस प्रतिनिधिमंडल में साइबर क्षेत्र, कृषि क्षेत्र के साथ-साथ रक्षा क्षेत्र से जुड़े सदस्य भी होंगे।

इजराइल के पीएम के भारत यात्रा के दौरान तेल और गैस, नवीकरणीय ऊर्जा, हवाई अड्डों के लिए संशोधित प्रोटोकॉल, साइबर सुरक्षा, फिल्म और वृत्तचित्र के सह-निर्माण सहित अन्य क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर होंगे।
 
1 अरब डॉलर का हथियार खरीदता है भारत 
भारत, इजरायल से हर साल करीब 1 अरब डॉलर के हथियार खरीदता है। एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल सौदे के रद्द होने के बावजूद भारतीय रक्षा मंत्रालय ने इस महीने राफेल द्वारा निर्मित 131 बराक मिसाइलों को खरीदने के लिए 72 मिलियन डॉलर के रक्षा सौदे को मंजूरी दी है। 

ये है नेतन्याहू का कार्यक्रम 
नेतन्याहू अपनी 6 दिवसीय यात्रा के दौरान भारत की राजधानी दिल्ली, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के अलावा पीएम मोदी के गृहराज्य गुजरात भी जाएंगे। बता दें कि सात महीने पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इजरायल की यात्रा की थी। यह किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री का पहला इजरायल दौरा था।