छोटी कार बनाने वाली कोरियाई कंपनी KIA मोटर्स की भारत में दस्तक

0
26

नई दिल्ली। छोटी कार बनाने वाली कोरियाई कंपनी किया मोटर्स ने 1.1 अरब डॉलर (करीब 7,000 करोड़ रुपये) क निवेश के साथ भारतीय बाजार में उतरने का ऐलान किया है। कंपनी आंध्र प्रदेश में अपनी विनिर्माण इकाई स्थापित करेगी, जिसकी सालाना क्षमता 3 लाख वाहनों के विनिर्माण की होगी। किया की प्रवर्तक कंपनी हुंडई 17 फीसदी बाजार हिस्सेदारी के साथ भारत की दूसरी सबसे बड़ी कार विनिर्माता है।

किया की योजना खासतौर पर भारतीय बाजार के लिए कॉम्पैक्ट सिडैन और कॉम्पैक्ट एसयूवी के उत्पादन करने की है। कॉम्पैक्ट सिडैन और एसयूवी वाहनों की बाजार में खासी मांग है और इस पर बड़े आकार के सिडैन और एसयूवी की तुलना में कम उत्पाद शुल्क लगता है। किया भारतीय बाजार में मारुति सुजूकी, हुंडई, होंडा, महिंद्रा ऐंड महिंद्रा और टाटा मोटर्स को टक्कर दे सकती है।

मारुति सुजूकी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने कहा, ‘सभी तरह की प्रतिस्पर्धा के बावजूद हम बाजार की जरूरतों के बारे में निर्णय करने में सक्षम रहे हैं और अपनी हिस्सेदारी बढ़ा रहे हैं।’ कंपनी ने कहा कि विनिर्माण संयंत्र का काम वर्ष 2017 की अंतिम तिमाही में चालू होगा और उत्पादन 2019 की दूसरी छमाही तक शुरू होने की उम्मीद है।

नया संयंत्र 563 एकड़ में फैला होगा

नया संयंत्र 563 एकड़ से ज्यादा क्षेत्र में फैला होगा और इसमें कंपनी के कई आपूर्तिकर्ताओं की इकाइयां भी होंगी।किया मोटर्स के अध्यक्ष हान-वू पार्क ने कहा, ‘आंध्र प्रदेश में कंपनी की नई विनिर्माण इकाई की घोषणा करते हुए हमें खुशी हो रही है।’ कंपनी ने गुरुवार को अनंतपुर में नई इकाई के लिए आंध्र प्रदेश सरकार के साथ समझौते पत्र पर हस्ताक्षर किए।