सिटीजन फीडबैक: राजस्थान में कोटा पहले स्थान पर

0
12

कोटा। स्वच्छता सर्वे होना और उसका रिजल्ट आना तो अभी बाकी है, लेकिन इस सर्वे के पहले सिटीजन फीडबैक में कोटा ने टॉप-10 में जगह बना ली। पिछले 6 दिन में 5692 शहरवासियों ने मोबाइल एप व लिंक के जरिए फीडबैक दिया। इस सर्वे में देश के 4200 शहर भाग ले रहे हैं। इस संख्या के आधार पर कोटा देश में छठे और प्रदेश में पहले स्थान पर आया है।

केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय द्वारा स्वच्छता सर्वे में शहरवासियों के लिए प्रश्नोत्तरी बनाई है। इसके 1400 अंक रखे गए हैं। यदि शहरवासियों द्वारा इस सिटीजन फीडबैक में सकारात्मक जवाब दिए जाते हैं तो कोटा शहर को 1400 अंक मिलेंगे। इसमें जितने अधिक से अधिक लोग भाग लेंगे कोटा की स्थिति उतनी ही बेहतर होगी।

नगर निगम ने इसका जिम्मा प्रशिक्षु आईएएस एवं रामपुरा जोन के उपायुक्त जसमीत सिंह संधु को दिया है। निगम द्वारा भी कर्मचारियों व अधिकारियों को लगाकर फीडबैक देने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसका परिणाम ये रहा कि राजस्थान में जयपुर, जोधपुर, अजमेर व डूंगरपुर को पीछे छोड़कर कोटा पहले स्थान पर आ गया।

वहीं, 4200 शहरों में छठे स्थान पर पहुंच गया। स्वच्छता एप डाउनलोड करने में 10 लाख से अधिक की जनसंख्या वाले शहरों की सूची में कोटा प्रदेश में दूसरे व देश में 34 वें स्थान पर है।

शिकायतों को दूर करने में अभी काफी पीछे
स्वच्छता एप पर शहरवासियों की शिकायतों का समाधान करने के लिए कोटा नगर निगम अभी भी विशेष प्रयास नहीं कर रहा है। जबकि, प्रत्येक शिकायत को दूर करने में नगर निगम को 2 अंक मिलेंगे। इन शिकायतों का समाधान करने के लिए नगर निगम ने शुरू से कोई अलग से विंग स्थापित नहीं की।

पहले स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में लगे एक्सईएन संजीव बाहेती को इसका जिम्मा दिया गया था। उन्होंने कुछ शिकायतों को दूर किया, लेकिन अभी भी करीब 300 से अधिक शिकायतें पेंडिंग हैं। 15 दिन पहले स्वच्छता एप पर डाली गई कई शिकायतों का समाधान आज तक नहीं हो पाया।