अब आधार सेफ, 1 जून से 16 अंकों की वर्चुअल ID से वेरिफिकेशन

0
8

नई दिल्ली।आधार डेटा की सुरक्षा के लिहाज से यूनिक आइडेंटि‍फि‍केशन अथॉरि‍टी ऑफ इंडि‍या (UIDAI) ने बुधवार को वर्चुअल आईडी के नए सिस्टम का एलान किया। इसे कोई भी आधार होल्डर यूआईडीएआई की वेबसाइट से जनरेट कर सकता है।

16 डिजिट की इस वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल सिम वेरिफिकेशन समेत कई स्कीम में केवाईसी के तौर पर होगा। यानी कि अब लोगों को वेरिफिकेशन के लिए 12 अंक का आधार नंबर नहीं बताना होगा। सभी एजेंसियां 1 जून से इसी आईडी के जरिए यूजर्स का वेरिफिकेशन करेंगी।

वेरिफिकेशन प्रॉसेस में क्या बदलाव होगा?
यूआईडीएआई की नई व्यवस्था शुरू होने के बाद यूजर्स को वेरिफिकेशन के लिए अपना आधार नंबर सर्विस प्रोवाइडर से शेयर नहीं करना पड़ेगा। इसकी जगह वर्चुअल आईडी से ही काम चल जाएगा।
कैसे जनरेट होगी वर्चुअल आईडी?

16 डिजिट की वर्चुअल आईडी आधार से मैच होगी। इसे यूआईडीएआई की वेबसाइट से जनरेट किया जा सकेगा। जरूरत के मुताबिक, आधार होल्डर इसे कई बार जनरेट कर सकते हैं। नई वर्चुअल आईडी जनरेट होने पर पुरानी अपने आप कैंसल हो जाएगी।