उद्योगों को प्रोत्साहन देने के लिए जयपुर में इण्डिया इण्डस्ट्रीयल फेयर शुरू

0
11

जयपुर। गृहमंत्री  गुलाब चंद कटारिया ने लघु एवं मझौले उद्योगों को रोजगार का सशक्त माध्यम बनाते हुए नौकरी मांगने वाले नहीं बल्कि नौकरी देने वाले युवा उद्यमी तैयार करने की आवश्यकता प्रतिपादित की है। युवाओं में उद्यमी बनने की ललक पैदा करनी होगी। उन्होंने कहा कि आर्थिक विकास में लघु एवं कुटीर उद्योगों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

कटारिया शुक्रवार को सीतापुरा के जेईसीसी परिसर में उद्योग विभाग व लघु उद्योग भारती द्वारा आयोजित इण्डिया इण्डस्ट्रीयल फेयर उद्योग दर्शन के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे।  इस अवसर पर केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु और केन्द्रीय युवा एवं सूचना प्रसारण राज्य मंत्री राजवर्द्धन सिंह ने वीडियो संदेश के माध्यम से इसे सराहनीय प्रयास बताते हुए शुभकामनाएं दी। 

उन्होंने वनोपज और किसानों की उपज के सहउत्पाद तैयार करने के उद्योग स्थापित करने पर जोर देते हुए कहा कि जहां एक और इन उत्पादों को देश ही नहीं विदेशों में भी बाजार मिल सकेगा वहीं आदिवासियों और काश्तकारों को उनकी उपज का लाभकारी मूल्य मिल सकेगा। 

कटारिया ने युवाओं व महिलाओं को लघु व कुटीर उद्योगों से जोड़ने के लिए एक अलग से विंग बनाकर उनके प्रशिक्षण, मार्गदर्शन और बाजार उपलब्ध कराने पर जोर दिया। उन्होंने उद्योग विभाग व लघु उद्योग भारती द्वारा इस तरह के फेयर आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि इससे साझा मंच उपलब्ध हो पाता है।

उर्जा मंत्री पुष्पेन्द्र सिंह ने बताया कि राज्य में एक माह में औद्योगिक कनेक्शन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। उन्होंने रीको औद्योगिक क्षेत्रों में केवल 2 प्रतिशत हानि को रेखांकित किया। उन्होंने बताया कि पिछले चार साल में उर्जा क्षेत्र के सभी क्षेत्रों में उपलब्धिों के नए आयाम स्थापित किए गए हैं। 

 उर्जा मंत्री  ने उद्योगों को भी सोलर सिस्टम अपनाने का सुझाव दिया। उन्होंने बताया कि उर्जा के क्षेत्र मेें राजस्थान को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किया गया । हरियाणा के श्रम एवं नियोजन मंत्री नायाब सिंह ने कहा कि बड़े उद्योगों की सफलता के लिए लघु उद्योगों को मजबूत करना होगा। छत्तीसगढ़ औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष छगन मूंदडा ने छत्तीसगढ़ में औद्योगिक निवेश के बेहतर वातावरण की चर्चा करते हुए निवेश के लिए आमंत्रित किया।

उद्योग आयुक्त व सीएसआर सचिव कुंजी लाल मीणा ने कहा कि इण्डिया इण्डस्ट्रीयल फेयर समूचे देश में अपनी पहचान बना चुका है। उन्होंने बताया कि उद्योग विभाग द्वारा उद्योगों को प्रोत्साहन, मार्गदर्शन और बाजार उपलब्ध कराने के लिए बायर-सेलर मीट सहित जिला स्तर तक मेला प्रदर्शनियां आयोजित कर लाभान्वित किया जा रहा है।

 लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष जितेन्द्र गुप्ता ने बताया कि लघु उद्योग भारती की देशभर में 465 इकाइयां है। उन्होंने बताया कि देशभर में 3 करोड़ 62 लाख एमएसएमई इकाइयां है पर जहां तक पंजीयन का प्रश्न है केवल 40 लाख इकाइयां ही पंजीकृत है। उन्होंने प्रशिक्षण व विपणन सहयोग की जरुरत बताई। 

राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष योगेश गौतम ने बताया कि मेले में सेमिनार, फैशन शो सहित विभिन्न आयोजन भी रखे गए हैं। इस अवसर पर एसबीआई के सीजीएम विजय रंजन, लघु उद्योग भारती के ताराचंद गोयल, विमल कटियार, सहित गणमान्य नागरिक, अधिकारीगण व उद्यमी उपस्थित थे।