रजनीकांत ने लॉन्च की अपनी वेबसाइट, राजनीति में जुड़ने की अपील

0
18

नई दिल्ली।. तमिल सुपरस्टार रजनीकांत ने सोमवार को अपनी एक वेबसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च किया। ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट करके उन्होंने इसका एलान किया। इसका मकसद लोगों को अपने साथ जोड़ना है। इस वेबसाइट पर लोग अपना नाम और वोटर आईडी नंबर डालकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

बता दें कि रविवार को रजनीकांत ने राजनीति में आने का एलान किया था। उन्होंने कहा था कि 2021 में तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में वे सभी 234 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगे।वीडियो में क्या कहा रजनीकांत ने?

– वीडियो में रजनीकांत ने लोगों से उनसे जुड़ने की अपील की। उन्होंने कहा, “मैंने अपने फैन्स और वॉलंटियर्स से जुड़ने के लिए rajinimandram.org नाम की वेबसाइट बनाई है। जो भी लोग राजनीति में बदलाव देखना चाहते हैं वो अपने नाम और वोटर आईडी नंबर के साथ खुद को वेबसाइट पर रजिस्टर करें।”

करप्शन से लड़ने की जरूरत’
– अपनी छोटी सी स्पीच में रजनीकांत ने कहा, “सिस्टम को बदलने और करप्शन से लड़ने की जरूरत है।”
– “डेमोक्रेसी के नाम पर पॉलिटीशियन्स हमसे हमारे पैसे और जमीन छीन रहे हैं। ऐसे वक्त में अगर मैं पॉलिटिक्स में नहीं आया तो ये मेरे लिए शर्म की बात होगी, क्योंकि लोगों ने मुझे हमेशा अपना प्यार दिया है। ये सिनेमा नहीं है, ये सच्चाई है।”

तमिल पॉलिटिक्स में रहा फिल्म स्टार्स का दबदबा
– बता दें कि तमिलनाडु की पॉलिटिक्स के हमेशा से फिल्म स्टार्स का दबदबा रहा है।
– पिछले 60 सालों में राज्य में सबसे लंबे वक्त तक मुख्यमंत्री रहे एम करुणानिधी, एमजी रामचंद्रन और जयललिता तीनों ही फिल्म इंडस्ट्री से ताल्लुक रखते थे।

कमल-अमिताभ ने किया था रजनी का स्वागत
– रजनीकांत के राजनीति में आने के एलान का अमिताभ और कमल हासन ने स्वागत किया था।
– अमिताभ ने ट्वीट में लिखा था, ”मेरे प्यारे दोस्त और साथी रजनीकांत ने राजनीति में आने का फैसला किया है। कामयाबी के लिए मेरी शुभकामनाएं उनके साथ हैं।”
– साउथ एक्टर कमल हासन ने ट्वीट किया, ”मैं रजनी भाई की सामाजिक जिम्मेदारी निभाने और राजनीति में जाने का स्वागत करता हूं।”

BJP सांसद ने कहा था- राजनीति में रजनी अनपढ़
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने रजनीकांत के लिए रविवार को कहा था, ”उन्होंने सिर्फ एलान किया है कि वो राजनीति में आ रहे हैं। उनके पास ना कोई जानकारी है और ना दस्तावेज। वह अनपढ़ हैं। यह सिर्फ मीडिया प्रचार है। तमिलनाडु के लोग काफी समझदार हैं।”