वर्ष 2017 में स्‍टॉक मार्केट इन्‍वेस्‍टर्स की चांदी, 45.50 लाख करोड़ बढ़ी संपत्ति

0
11

नई दिल्‍ली। भारतीय स्‍टॉक मार्केट इन्‍वेस्‍टर्स के लिए 2017 का साल बेहद खास रहा। इस साल  इन्‍वेस्‍टर्स की संपत्ति 45.5 लाख करोड़ रुपए बढ़ गई। साल के दौरान बंबई शेयर बाजार, बीएसई  के संवेदी सूचकांक में 28 फीसदी की जोरदार बढ़त दर्ज की गई। 

बीएसई का सेंसेक्स 7,430.37 अंक चढ़ा
साल के दौरान बीएसई का सेंसेक्स 7,430.37 अंक चढ़ा। यानी इसमें 27.91 फीसदी की तेजी दर्ज की गई। बीएसई में लिस्‍टेड 30 प्रमुख कंपनियों के शेयर प्राइस पर आधारित सेंसेक्स 27 दिसंबर को कारोबार के दौरान 34,137.97 अंक के अब तक के सर्वोच्च स्तर को छू गया।
 
लिस्‍टेड कंपनियों का मार्केट कैप बढ़ा
बीएसई में लिस्‍टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन 45,50,867 करोड़ रुपए बढ़कर 1,51,73,867 करोड़ यानी 2,300 अरब डॉलर हो गया। साल 2017 के आखिरी कारोबारी दिन को आज सेंसेक्स 208.80 अंक यानी 0.62 फीसदी की जोरदार बढ़त के साथ 34,056.83 अंक पर बंद हुआ।

क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट 
एंजल ब्रोकिंग के तकनीकी और डेरिवेटिव्ज के मुख्य विश्लेषक समीत च्व्हाण ने कहा, साल 2017 का आखिरी कारोबारी दिन पॉजिटिव रुख के साथ समाप्त हुआ। इसके साथ ही साल के समाप्ति पर मार्केट  रिकार्डं हाई पर बंद हुआ। भारतीय शेयर मार्केट के लिए यह साल महत्वपूर्ण रहा।

यह भी कहा जा सकता है कि ग्‍लोबल मार्केट के लिए यह साल उल्लेखनीय रहा। साल के दौरान कई कंपनियां कैपिटल मार्केट में उतरी। कुल मिलाकर 36 कंपनियों के आईपीओ बाजार में आए और उन्हें इन्‍वेस्‍टर्स का भरपूर समर्थन प्राप्त हुआ।
 
RIL सबसे बड़ी कंपनी 
साल की समाप्ति पर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, आरआईएल सबसे मूल्यवान कंपनी रही। इसके शेयरों का मार्केट कैप 5,83,347.34 करोड़ रुपए रहा। इसके बाद टाटा कंसल्टेंसी सर्विस यानी टीसीएस 5,16,934.22 करोड़ रुपए का स्थान रहा। तीसरे स्थान पर एचडीएफसी बैंक रहा।

इसका मार्केट कैप 4,85,272.61 करोड़ रुपए रहा। इसके बाद आईटीसी रहा जिसका मार्केट कैप 3,20,730.92 करोड़ रुपए रहा। पांचवें स्थान पर हिन्दुस्तान यूनिलीवर रहा जिसका मार्केट कैप ,96,122.31 करोड़ रुपये रहा।