कच्चा तेल 31 माह के सर्वोच्च स्तर पर, कीमतें 65 डॉलर/बैरल के पार

0
8

सिंगापुर। तेल कीमतों का वैश्विक मानक ब्रेंट क्रूड फ्यूचर्स मंगलवार को 65.25 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचने के साथ ही 31 माह के सर्वोच्च स्तर के करीब पहुंच गया। इसका जून 2015 के बाद से अब तक का सर्वोच्च स्तर 12 दिसंबर को था जब यह 65.83 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया था।

तेल निर्यातक देशों के प्रमुख संगठन ओपेक और रूस द्वारा उत्पादन में कमी करने का फैसला इसका एक प्रमुख कारण है। वर्ष 2017 के मध्य से कच्चे तेल के दाम 47 प्रतिशत तक बढ़ चुके हैं। विश्व के सबसे बड़े तेल उत्पातकों में शामिल ओपेक (तेल निर्यातक देशों का प्रमुख संगठन), मध्य-पूर्वी तेल उत्पादक संघ और रूस ने बाजार में तरलता कम करने और कीमतों को बढ़ाने के उद्देश्य से तेल उत्पादन रोक दिया है।

तेल उत्पादन में कमी का यह समझौता जनवरी 2017 में हुआ था और यह 2018 दिसंबर तक चलेगा। तेल उत्पादन पर रोक का एक कारण वैश्विक मांग में बढ़ोतरी करना भी है। इससे वर्ष 2019 तक कच्चे तेल की वैश्विक मांग 10 करोड़ बैरल प्रति दिन के रिकॉर्ड स्तर को भी छू सकती है।