जयराम ठाकुर हिमाचल के नए सीएम, 27 को होगी ताजपोशी

0
8

नई दिल्ली/शिमला। जयराम ठाकुर हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री होंगे। रविवार को उन्हें विधायक दल की मीटिंग में नेता चुना गया। पहले इस रेस में जेपी. नड्डा का नाम भी चल रहा था। लेकिन, कास्ट फैक्टर को देखते हुए ठाकुर को नेता चुना गया। ठाकुर प्रेम कुमार धूमल सरकार में पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री रह चुके हैं।

इस बार सेराज से विधायक चुने गए। वो अब तक पांच बार विधायक चुने जा चुके हैं। हिमाचल में ठाकुर कम्युनिटी ज्यादा है और नड्‌डा ब्राह्मण हैं। बीजेपी के सामने सीएम की दिक्कत प्रेम कुमार धूमल के हारने की वजह से हुई थी। नरेंद्र सिंह तोमर ने ठाकुर के नाम का एलान किया। प्रेम कुमार धूमल ने ठाकुर के नाम का प्रस्ताव किया था।

पांच बार लिया धूमल का नाम
– जयराम ठाकुर जब आभार प्रकट करने के लिए सामने आए तो पांच बार पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल का नाम लिया। धूमल पार्टी के सीएम कैंडिडेट थे लेकिन वो सुजानपुर से चुनाव हार गए थे।
तोमर ने किया ठाकुर के नाम का एलान

– विधायक दल की बैठक में बीजेपी के सेंट्रल ऑब्जर्वर निर्मला सीतारमण और नरेंद्र सिंह तोमर भी शामिल हुए। तोमर ने कहा- बैठक में नए नेता के चयन की प्रक्रिया आज पूरी हो रही है। आज हम सब लोगों ने सबसे पहले बीजेपी के कोर ग्रुप की बैठक में हिस्सा लिया। चर्चा में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जी और संसदीय बोर्ड ने फैसला किया।

विधानमंडल दल की बैठक हुई। इसमें पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल जी ने जयराम ठाकुर को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखा। जेपी नड्डा और शांता कुमार ने प्रस्ताव का समर्थन किया।कोई दूसरा प्रस्ताव सामने नहीं है इसलिए जयराम ठाकुर जी को विधानमंडल दल का नेता घोषित किया जाता है।

जयराम ठाकुर ने क्या कहा?
– तोमर ने जयराम ठाकुर को आभार प्रकट करने के लिए बुलाया। जयराम ठाकुर ने कहा, “मैं नरेंद्र तोमर, निर्मला सीतारमण, जेपी नड्डा जी, प्रेम कुमार धूमल, शांता कुमार, हेमंत पांडे, पवन राणा और विधायकों का धन्यवाद करता हूं।”

– “हिमाचल एक ऐसा प्रदेश है, जहां बीजेपी की सरकार का हम इंतजार कर रहे थे और ये सपना साकार हुआ। हिमाचल कांग्रेस मुक्त हुआ। मैं नरेंद्र मोदी, अमित शाह को धन्यवाद देता हूं। जिस उम्मीद पर जनता ने हमें जनादेश दिया है और राष्ट्रीय नेतृत्व ने जो हमसे उम्मीद रखी है, हम उसे पूरा करने की कोशिश करेंगे।”

जयराम बनाम धूमल गुट की भिड़ंत से केंद्र दुखी
– सेंट्रल ऑब्जर्वरों की मौजूदगी में जिस तरह से पहले जयराम गुट और फिर धूमल गुट ने नारेबाजी की और नौबत हाथापाई तक पहुंच गई थी, उससे पार्टी हाईकमान काफी खफा है।
– बीजेपी के बड़े नेताओं ने कहा है कि जिस तरह की चीजें सामने आईं हैं, उन्हें खारिज नहीं किया जा सकता। दोषी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई होगी।