हाथ में जन्मजात विकृति वाले बच्चों की मुफ्त स्क्रीनिंग 18 व 19 को

0
53

देश के जाने-माने हैंड सर्जन 5 से 7 जनवरी को नारायणा हॉस्पिटल में करेंगे निशुल्क सर्जरी

कोटा। अपने हाथों में जन्मजात विकृतियां लेकर जीवन जी रहे गरीब बच्चों के लिए खुशखबर। नारायणा मल्टीस्पेशियल्टी हॉस्पिटल, जयपुर द्वारा ऐसे बच्चों की विकृतियां दूर करने के लिए 18 व 19 दिसम्बर को हॉस्पिटल में निशुल्क स्क्रीनिंग कैम्प आयोजित किया जाएगा।

इसमे चयनित बच्चों की अस्पताल के हड्डी रोग विशेषज्ञ, हैंड सर्जरी टीम, देश के जाने माने हैंड सर्जन आगामी 5,6 व 7 जनवरी,2018 को निशुल्क लाइव हैंड सर्जरी करेंगे।

नारायणा हॉस्पिटल,जयपुर में आर्थोपेडिक्स हैंड एंड माइक्रोवेस्कुलर सर्जरी कंसल्टेंट डॉ गिरीश गुप्ता दादाबाड़ी,कोटा के रहने वाले हैं। उन्होंने कोटा प्रवास में बताया कि 18 व 19.दिसम्बर को निशुल्क कैम्प में 10 वर्ष से छोटे बच्चों के हाथ में जन्मजात विकृतियों की मुफ्त जांच की जाएगी।

डॉक्टर गिरीश गुप्ता

ऐसे गरीब बच्चों को जिनकी उँगलिया व अँगूठा चिपका हुआ हो, ये सामान्य से कम या ज्यादा हो, टेढ़ी- मेढी उँगलिया, कोहनी, कलाई के जोड़ या हाथ मे अन्य कोई जन्मजात विकृति हो, उनकी निशुल्क जांच की जाएगी। हाड़ौती क्षेत्र से ऐसे जन्मजात विकृति वाले गरीब बच्चों को भी निशुल्क जांच व सर्जरी की यह सुविधा मिलेगी।

जयपुर में करेंगे मुफ्त हैंड सर्जरी
हॉस्पिटल की जोनल क्लिनिकल डायरेक्टर डॉ. माला ऐरन ने बताया कि फ्री स्क्रीनिंग केम्प के बाद आगामी 5, 6 व 7 जनवरी,2018 को नारायणा हॉस्पिटल, जयपुर में निशुल्क सर्जरी की जाएगी।

7 जनवरी को लाइव हैंड सर्जरी कॉन्फ्रेंस में देशभर से हड्डी रोग विशेषज्ञ व हैंड सर्जन भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि जिन बच्चों का इलाज संभव न हो, उनके लिए अब प्रोस्थेटिक डिवाइस आ गई है, जिससे हाथों की स्थिति पहले से बेहतर जो सकती है।