स्टार्टअप्स पर जीएसटी की मार, नए रजिस्ट्रेशन में आई कमी

0
21

नई दिल्ली। गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) लागू होने का असर अब स्टार्टअप पर भी दिख रहा है। यानी जो लोग नई सोच के साथ नया बिजनस शुरू करना चाहते हैं, उनका सेंटिमेंट बिगड़ गया है। चार महीने से लगातार देश में नई कंपनियों के रजिस्ट्रेशन में गिरावट आई है। जुलाई से शुरू हुई गिरावट की प्रमुख वजह जीएसटी को माना जा रहा है।

एक्सपर्ट के अनुसार जीएसटी लागू होने के बाद से जिस तरह सेंटिमेंट बिगड़ा है, उसके बाद नई बिजनस एक्टिवटी में असर दिखा है। मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स के ताजा आंकड़ों के अनुसार, जुलाई से लगातार नई कंपनियों के रजिस्ट्रेशन में कमी आई है।

स्टार्टअप को पटरी पर लाने के लिए सरकार का प्रयास जारी हैं। सूत्रों के मुताबिक, सरकार परिभाषा बदलकर स्टार्टअप के दायरे में ज्यादा नए उद्यमियों को लाना चाहती है। जिनका स्टार्टअप आवेदन रिजेक्ट कर दिया गया है, उन्हें दोबारा मौका मिल सकता है।

आपको बता दें कि इस साल जीएसटी लागू होने के बाद से ही देशभर में कारोबार पर काफी असर पड़ा है। जिसकी वजह से अर्थव्यवस्था पर काफी असर पड़ा है। हालांकि अब धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है।