अप्रैल-नवंबर के दौरान 4.8 लाख करोड़ का डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन

0
21

नई दिल्ली ।  चालू वित्त वर्ष के दौरान अप्रैल से नवंबर तक डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन लगभग 4.8 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया, जो बीते साल की समान अवधि की तुलना में 14.4 फीसदी ज्यादा है। टैक्स कलेक्शन का यह आंकड़ा 2017-18 के बजट एस्टीमेट का 49 फीसदी है। सरकार ने बजट में 9.8 लाख करोड़ डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन का अनुमान लगाया था।

4.8 लाख करोड़ रहा डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन
सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने एक स्टेटमेंट में कहा, ‘इस वित्त वर्ष के दौरान नवंबर, 2017 तक के डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन के प्रोविजनल आंकड़ों से पता चलता है कि कुल टैक्स कलेक्शन 4.8 लाख करोड़ रुपए रहा, जो बीते साल की समान अवधि की तुलना में 14.4 फीसदी ज्यादा है।’

जारी किए 1 लाख करोड़ रु के रिफंड
सीबीडीटी के मुताबिक कुल डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 2017-18 के बजट एस्टीमेट (9.8 लाख करोड़ रुपए) का लगभग 49 फीसदी है। वहीं अप्रैल-नवंबर, 2017 के दौरान ग्रॉस कलेक्शन 10.7 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 5.82 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया। वहीं वित्त वर्ष के शुरुआती 8 महीनों के दौरान लगभग 1.02 लाख करोड़ रुपए के रिफंड जारी किए गए।