कस्टम निरीक्षक के घर सीबीआई छापा उजागर हुई संपत्ति ने उड़ाए होश

0
22

जोधपुर। कस्टम एवं सेन्ट्रल एक्साइज के मुम्बई में प्रीवेंटिव ऑफिसर निरीक्षक ने पांच साल के कार्यकाल में करीब सत्तर लाख से अधिक रुपए कमा लिए। बैंक खाते में लाखों रुपए ट्रांसफर होने पर सीबीआई जोधपुर ने जांच शुरू की तो दंग रह गई।

निरीक्षक के खिलाफ आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज कर सीबीआई जोधपुर ने शुक्रवार को पाली जिले में सोजत सिटी के पास सिंघारियों का बास स्थित पैतृक मकान व मुम्बई स्थित ऑफिस में छापे मारकर लाखों रुपए के साथ 150 अमरीकन डॉलर यानि करीब एक लाख रुपए भी बरामद किए।

सीबीआई के अनुसार सोजत सिटी में सिंघारियों का बास निवासी परमानंद सिंघारिया मुम्बई में कस्टम एवं सेन्ट्रल एक्साइज में प्रीवेंटिव ऑफिसर (निरीक्षक) है। उसके खिलाफ आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज किया गया है।

सीबीआई जोधपुर की टीम ने शुक्रवार को सिंघारियों का बास व मुम्बई स्थित ऑफिस में छापे मारे साथ ही बैंक खाते भी चेक किए। सिंघारियों का बास स्थित पैतृक मकान से सत्रह लाख रुपए, पंद्रह लाख रुपए की एफडीआर बरामद हुई। जबकि मुम्बई से डेढ़ सौ अमरीकन डॉलर (एक लाख रुपए) व बैंक खातों में 15 लाख रुपए बैलेंस मिला उसकी सम्पत्ति संबंधी जांच की जा रही है।
 
बैंक में 6 माह में जमा कराए 23 लाख रुपए : परमानंद गत वर्ष से मुंबई के बैंक में बड़ी राशि जमा करके सोजत सिटी स्थित एसबीआई बैंक शाखा में बहन के खाते में ट्रांसफर करवा रहा था। उसने कुछ राशि मध्यप्रदेश के भोपाल स्थित बैंक खाते में भी भेजी थी।

इसका पता लगने पर सीबीआई ने जांच की और उसके खिलाफ आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज किया। जांच में सामने आया कि उसने गत छह महीने में तेइस लाख रुपए बैंक में जमा करवाए हैं। यह राशि उसने मुम्बई व भोपाल भेजी थी।

आरोपी कस्टम निरीक्षक परमानंद बैंक से बहन के खाते में बड़ी राशि ट्रांसफर कर रहा था। वह जब भी गांव आता तो एटीएम की मदद से बहन के बैंक खाते से राशि निकलवाता रहता था।