ब्लड पर जीएसटी का विरोध, सांसद ने वित्त मंत्री को लिखा पत्र

0
20

कोटा। ब्लड बैंकों से आमजन को दिए जाने वाले रक्त पर 12.5 फीसदी जीएसटी का विरोध करते हुए रक्तदाताओं ने गुरुवार को कोटा में सांसद ओम बिरला विधायक संदीप शर्मा को ज्ञापन दिए।

न्यू रक्तदान-महादान ग्रुप के संयोजक चेतन पांडेय ने बताया कि जीएसटी लगने के बाद ब्लड ट्रांसफ्यूजन कौंसिल ने ब्लड बैंकों से मिलने वाले रक्त की दर बढ़ा दी है। अब एक यूनिट ब्लड पर 400 रुपए ज्यादा कर दिए हैं, यानी पहले 850 रुपए देने पड़ते थे, अब 1250 रुपए देने होंगे।

राजस्थान में गरीब व्यक्ति को अस्पतालों में हर तरह की राहत मिलती है, जांच दवाइयां तक फ्री उपलब्ध है, ऐसे में ब्लड के दाम बढ़ाना किसी भी रूप में न्यायसंगत नहीं है। उन्होंने नए अस्पताल में आरडीपी -एसडीपी की व्यवस्था शुरू कराने के लिए ब्लड सेपरेशन मशीन कंपोनेंट तैयार करने की मशीनें भी लगाने की मांग की।

साथ ही कहा कि इस सुविधा के अभाव में नए अस्पताल में भर्ती मरीज को प्लेटलेट या एसडीपी के लिए 10 से 15 किमी दूर एमबीएस या अन्य ब्लड बैंकों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। ज्ञापन के बाद सांसद ओम बिरला ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र भी लिखा और आग्रह किया कि रक्त पर लागू किए गए 12.5 फीसदी जीएसटी को तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाए।