फिल्म “पद्मावती” राजस्थान, मध्यप्रदेश और पंजाब में रिलीज नहीं होगी

0
24

जयपुर/भोपाल/चंडीगढ़। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को अभी सेंसर बोर्ड ने भी पास नहीं किया है, लेकिन सोमवार को राजस्थान सहित 3 राज्यों मप्र और पंजाब ने भी प्रदर्शन पर बैन लगा दिया।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि कानून व्यवस्था को सुनिश्चित रखना राज्य की पहली प्राथमिकता है और इसे हर साल में बहाल रखा जाएगा। जब तक केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को 18 नवंबर को लिखे पत्र में दिए गए सुझावों पर अमल नहीं हो जाता तब तक राजस्थान में फिल्म पद्मावती का प्रदर्शन नहीं होगा।

राजे ने सुझाव दिया था कि इतिहासकारों और समाज के प्रतिनिधियों की समिति द्वारा फिल्म पद्मावती की समीक्षा कर यह सुनिश्चित किया जाए कि राजपूत समाज की भावनाएं आहत हों। उधर, कर्नाटक सीएम सिद्धारमैया और प. बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने भंसाली का समर्थन किया है।

किसी को इतिहास तोड़ने-मरोड़ने का हक नहीं
जो फिल्म इतिहास से छेड़छाड़ करती है उसे राज्य में रिलीज नहीं होने दिया जाएगा। जो लोग इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं वे ठीक ही कर रहे हैं। –कैप्टन अमरिंदर सिंह, मुख्यमंत्री, पंजाब

पद्मावती के खिलाफ बनी फिल्म का मप्र में प्रदर्शन नहीं होगा,
ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ कर अगर राष्ट्रमाता पद्मावती के सम्मान के खिलाफ जिस फिल्म में दृश्य दिखाया गया है या बात कही गई है। तो उस फिल्म का प्रदर्शन मध्य प्रदेश की धरती पर नहीं होगा।’ -शिवराजसिंह चौहान, मुख्यमंत्री, मध्य प्रदेश 

कुछ लोग पैसा देकर हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने वाली फिल्में बनवाते हैं : स्वामी
भाजपा नेता डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सोमवार को जयपुर में कहा कि फिल्म पद्मावती की मंशा देश के इतिहास से छेड़छाड़ करने की है।

ये कहने में कतई गुरेज नहीं कि कुछ लोग पैसा देकर ऐसी फिल्में बनवाते हैं। जिनसे हिंदुओं की भावनाओं से छेड़छाड़ की जा सके। कुछ साल पहले आई फिल्म पीके में भी कुछ ऐसा किया गया। ऐसा गलत है।