विदेशी छात्र सीधे JEE-ADVANCED देंगे जबकि भारतीय JEE-MAINS से चुने जाएंगे

0
25
  • जेईई-एडवांस्ड,2018 का पोस्टर जारी।
  • जेईई-मेन में शीर्ष रैंक से चयनित हांगे 2.24 लाख भारतीय विद्यार्थी, जबकि विदेशी छात्र सीधे जेईई-एडवांस्ड दे सकेंगे।
  • प्रत्येक कोर्स में 10 फीसदी सीटों पर विदेशी छात्रों को एडमिशन।

अरविंद, कोटा। आईआईटी कानपुर ने देश के 23 आईआईटी में दाखिले के लिए 20 मई,2018 को होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा,उच्च (जेईई-एडवांस्ड) का पोस्टर अधिकृत वेबसाइट www.jeeadv.ac.in पर जारी कर दिया। इसमें विदेशी स्टूडेंट जिन्होंने 12वीं बोर्ड या समकक्ष परीक्षा पास की है, वे सीधे जेईई-एडवांस्ड परीक्षा दे सकेंगे। उनके लिए जेईई-मेन देना अनिवार्य नही होगा।

इसके अनुसार, जेईई-एडवांस्ड,2018 परीक्षा भारत के 120 शहरों सहित 6 अन्य देशों में अदीस अबाब (इथोपिया), कोलम्बो (श्रीलंका), ढाका (बांग्लादेश), काठमांडु (नेपाल) तथा दुबई (यूएई) व सिंगापुर में कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट (सीबीटी) मोड में होगी। भारतीय विद्यार्थियों के लिए 5 पात्रताएं अनिवार्य होंगी जबकि विदेशी छात्रों को 4 पात्रताएं पूरी करनी होंगी। पोस्टर के अनुसार, सभी आईआईटी के प्रत्येक कोर्स में 10 प्रतिशत सीटें विदेशों से चयनित स्टूडेंट्स के लिए आरक्षित रहेंगी।

देश के 9 पुराने प्रीमियर आईआईटी संस्थानों तथा 14 नए आईआईटी जोधपुर, इंदौर, मंडी, गांधीनगर, भिलाई, भुवनेश्वर, धारवाड़, जम्मू, पालक्काड़, पटना, रोपड़, तिरूपति व गोवा में बीटेक, बीआर्क, इंटीग्रेटेड मास्टर्स तथा ड्यूल डिग्री प्रोग्राम की 11,000 से अधिक सीटों के लिए 2.24 लाख परीक्षार्थियों के बीच कड़ा अंतरराष्ट्रीय मुकाबला होगा।

इससे पहले विद्यार्थियों की सुविधा के लिए वेबसाइट पर फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथ्स का विस्तृत सिलेबस जारी कर दिया गया। गौरतलब है कि जेईई-मेन,2017 से शीर्ष रैंक वाले 2.20 लाख परीक्षार्थियों को क्वालिफाई घोषित किया गया लेकिन उनमें से 1.59,540 ने ही एडवांस्ड परीक्षा दी थी, जिसमें 50,455 काउंसलिंग के लिए क्वालिफाई हुए थे। 2017 में आईआईटी की 10,988 सीटों में से अंतिम काउंसलिंग के बाद 121 रिक्त रह गई थीं।

ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड, (जेब) के अनुसार, आईआईटी,कानपुर द्वारा जेईई-एडवांस्ड,2018 में देश के 7 आईआईटी जोन से जुडे़ 120 शहरों में कम्प्यूटर युक्त परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। 20 मई को पेपर-1 सुबह 9 से 12 बजे तथा पेपर-2 दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक होगा।

ये हैं पांच अनिवार्य पात्रताएं-

  • अभ्यर्थी जेईई-मेन,2018 के शीर्ष 2.24 लाख विद्यार्थियों में चयनित हो।
  • अभ्यर्थी का जन्म 1 अक्टूबर,1993 या उसके बाद हुआ हो। रिजर्व केटेगरी व दिव्यांग को अधिकतम उम्र सीमा में 5 वर्ष की छूट रहेगी।
  • अभ्यर्थी 2016 में जेईई-एडवांस्ड या उससे पहले शामिल नही हुआ हो।
  • 2017 या 2018 में पहली बार 12वीं बोर्ड परीक्षा दी हो।
  • उसने पहले किसी आईआईटी में एडमिशन नहीं लिया हो।

आईआईटी में दाखिले के लिए कोई एक शर्त अनिवार्य
1- 12वीं बोर्ड या समकक्ष परीक्षा में न्यूनतम 75 फीसदी तथा आरक्षित वर्ग के लिए न्यूनतम 65 फीसदी हों।
2- अभ्यर्थी 12वीं बोर्ड या समकक्ष परीक्षा में केटेगरी के अनुसार, टॉप-20 परसेंटाइल में हो।

परीक्षा शुल्क पर भी जीएसटी की मार
सूत्रों ने बताया कि अप्रैल,2018 के चौथे सप्ताह में जेईई-एडवांस्ड के लिए ऑनलाइन पंजीयन प्रारंभ होंगे। जिसमें सभी श्रेणी के परीक्षार्थियों को निर्धारित पंजीयन शुल्क के साथ जीएसटी भी देना होगा।

अभिभावकों ने मांग की कि ऑनलाइन परीक्षा का पंजीयन शुल्क पहले से अधिक लिया जा रहा है, ऐसे में जीएसटी का अतिरिक्त भार देश के 2.24 लाख विद्यार्थियों पर आर्थिक दबाव बढ़ाएगा। विद्यार्थियों को इसमें छूट दी जानी चाहिए।

केटेगरी पंजीयन शुल्क (जीएसटी अतिरिक्त)
सामान्य वर्ग 2600 रू
गर्ल्स एवं रिजर्व श्रेणी – 1300 रू
विदेशी परीक्षार्थियों का शुल्क :
सार्क देशों के लिए – 160 यूएस डॉलर
गैर सार्क देशों के लिए- 300 यूएस डॉलर