वोडाफोन ने लॉन्च किया सुपर आईओटी

0
16

उद्योग जगत का पहला सम्पूर्ण आईओटी समाधान

नई दिल्ली। इंटरनेट मोबाइल फोन और लैपटॉप को कनेक्ट करने से लेकर आज स्मार्ट होम, वियरेबल टेकनोलॉजी और स्मार्ट सिटी तक लम्बी दूरी तय कर चुका है। इंटरनेट ऑफ थिंग्स यानि आईओटी डिजिटल बदलाव और डिजिटल इण्डिया का आधार है। एक अनुमान के अनुसार 2020 तक आईओटी का बाज़ार 9 बिलियन अमेरिकी डॉलर के आंकड़े तक पहुंच जाएगा।

उद्यमों को आईओटी में सक्षम बनाने के लिए वोडाफोन ने सुपर आईओटी का लॉन्च किया है। जिसमें आईओटी समाधान शामिल हैं।यह उद्योग जगत का पहला समाधान है जिसने डिवाइस, ऐप्लीकेशन, कनेक्टिविटी, सर्विस प्लेटफॉर्म, सपोर्ट एवं सिक्योरिटी (सुरक्षा) प्रबन्धन को सक्षम बनाया है।

सुपर आईओटी सम्पूर्ण समाधानों के माध्यम से इन सभी समस्याओं को हल करता है, डिवाइस, ऐप्लीकेशन, मैनेज्ड कनेक्टिविटी आदि सभी पहलुओं को कवर करता है। प्रदाता द्वारा पेश किया गया यह एकमात्र समेकित समाधान उद्यमी उपभोक्ताओं को उत्कृष्ट मूल्य प्रदान करता है।

सुपर आईओटी के साथ उद्यमों को कई आपूर्तिकर्ताओं एवं सेवा प्रदाताओं के प्रबन्धन की समस्याओं से नहीं जूझना पड़ेगा। वे ऐप्लीकेशन विकास, डिवाइस प्रबन्धन, एनालिटिक्स और ऐप्लीकेशन इनेबलमेन्ट प्लेटफॉर्म का लाभ उठा सकेंगे। वे मैनेज्ड कनेक्टिविटी के ज़रिए अपनी सम्पत्ति का प्रबन्धन एवं नियन्त्रण कर सकेंगे।

आईटी एक्सपो 2017 के दौरान वोडाफोन सुपर आईओटी का लॉन्च करते हुए वोडाफोन बिजनेस सर्विसेज़ के डायरेक्टर निक ग्लिडोन ने कहा, ‘‘आईओटी में ग्लोबल लीडर होने के नाते वोडाफोन विभिन्न क्षेत्रों जैसे ऑटोमोटिव, युटिलिटीज़, मैनुफैक्चरिंग, बैंकिंग और लॉजिस्टिक्स के साथ काम करता रहा है।

हमने सम्पूर्ण सुरक्षित समाधान की आवश्यकता को समझते हुए सुपर आईओटी एंटरप्राइज़ेज़ का लॉन्च किया जो आईओटी डिप्लॉयमेन्ट प्रक्रिया की जटिलताओं को दूर करेगा।वोडाफोन की पांचवीं सालाना आईओटी बैरोमीटर रिपोर्ट के अनुसार 81 फीसदी भारतीय संगठनों का मानना है कि आईओटी डिजिटल रूपान्तरण के लिए अनिवार्य है।

उद्यम भी इसके फायदों के बारे में जागरुक हो रहे हैं, वे समझ रहे हैं कि आईओटी कई तरह से उनके कारोबार के लिए फायदेमंद हो सकता है और उनकी जटिल समस्याओं को सुलझा सकता है। यहां तक कि सही आईओटी समाधान की पहचान भी अपने आप में मुश्किल है, बाज़ार कई विक्रेताओं और प्लेटफॉर्म्स से भरा है।