अब बिना इंटरनेट भी भर सकेंगे जीएसटी रिटर्न

0
25

नई दिल्ली। एजेंसी जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) ने खरीद रिटर्न जीएसटीआर-2 जमा कराने के लिए ऑफलाइन सुविधा पेश की है। जीएसटीएन ने बुधवार को कहा कि इस सुविधा से करदाता जीएसटीआर-2 के आंकड़े को एक्सेल में भेज सकेंगे।

इससे उन्हें आंकड़ों की खरीद रजिस्टर से तुलना करने में मदद मिलेगी और वे स्वीकार करने, खारिज करने या संशोधन करने जैसे काम भी कर सकेंगे। 

जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) ने खरीद रिटर्न जीएसटीआर-2 जमा कराने के लिए ऑफलाइन सुविधा पेश की है। जीएसटीएन ने बुधवार को कहा कि इस सुविधा से करदाता जीएसटीआर-2 के आंकड़े को एक्सेल में भेज सकेंगे।

इससे उन्हें आंकड़ों की खरीद रजिस्टर से तुलना करने में मदद मिलेगी और वे स्वीकार करने, खारिज करने या संशोधन करने जैसे काम भी कर सकेंगे। 
         
जीएसटीएन के सीईओ प्रकाश कुमार ने कहा कि हम करदाताओं की सुविधा के लिए नए फीचर्स और टूल पेश करना जारी रखेंगे। जीएसटीआर-2 के ऑफलाइन टूल का नया संस्करण पिछले से बेहतर होगा।

इसमें करदाताओं को आंकड़ों की खरीद आंकड़ों से तुलना करने में सुविधा होगी। अभी तक 21 लाख इकाइयों ने जुलाई के लिए जीएसटीआर22 जमा किया है।

इसे जमा करने की आखिरी तारीख 30 नवंबर है। करीब 47 लाख इकाइयों ने जीएसटीआर-1 या बिक्री रिटर्न जमा कराया है। इसे साथ-साथ जीएसटीआर-2 या खरीद रिटर्न से मिलाना होगा। 

इसके अलावा पोर्टल पर जीएसटी सीएमपी-02 को भी सक्रिय किया गया है। इससे करदाताओं को एकमुश्त योजना चुनने का विकल्प मिलेगा।

जीएसटी परिषद ने पिछले महीने कंपनियों के लिए एकमुश्त योजना चुनने की सीमा 75 लाख रुपये से बढ़ाकर एक करोड़ रुपये कर दी थी और इसका फायदा 90 फीसदी करदाता उठा सकते हैं।