टाटा स्टील को 1018 करोड़ रुपये का मुनाफा

0
11

नई दिल्ली । टाटा स्टील ने चालू वित्त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही के लिए अपने वित्तीय नजीजे को घोषित कर दिए हैं। जुलाई-सितंबर की इस तिमाही ने देश की दिग्गज स्टील कंपनी ने 1,018 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया है।

बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही के दौरान इस कंपनी को 49.48 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा लगा था। मुनाफा बढ़ने की खबर से कंपनी का शेयर बीएसई में एक फीसद से ज्यादा चढ़कर 718.80 रुपये पर बंद हुआ।

मौजूदा वित्त वर्ष की समीक्षाधीन तिमाही में टाटा स्टील की कुल आय भी बढ़कर 32,717.35 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। वर्ष 2016-17 की सितंबर में समाप्त तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आमदनी का आंकड़ा 27,228.50 करोड़ रुपये था।

कंपनी के खर्चो में भी चालू वर्ष की दूसरी तिमाही में इजाफा हुआ है। इस दौरान कुल खर्च 30,566.68 करोड़ रुपये रहा। बीते वित्त वर्ष की इसी तिमाही में खर्च का यह आंकड़ा 26,866.49 करोड़ रुपये था।

एचडीएफसी का लाभ 17 फीसद बढ़ा
देश की दिग्गज हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी ने मौजूदा वित्त वर्ष की 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में 2,869 करोड़ रुपये का कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट अर्जित किया है। मुनाफे का यह आंकड़ा बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही के मुकाबले 17 फीसद ज्यादा है।

कंपनी के वाइस चेयरमैन एवं सीईओ केकी मिस्त्री ने कहा कि समीक्षाधीन अवधि में कंपनी की लोनबुक में 18 फीसद की वृद्धि दर्ज हुई है। फंसे कर्जो के हिसाब से देखें कि कंपनी का ग्रॉस एनपीए लोन पोर्टफोलियो के 1.14 फीसद के स्तर पर है।

एलआइसी हाउसिंग का प्रॉफिट घटा
समीक्षाधीन तिमाही के दौरान एलआइसी हाउसिंग फाइनेंस का शुद्ध लाभ 1.13 फीसद की मामूली गिरावट के साथ 489.12 करोड़ रुपये हो गया। एलआइसी की सहयोगी कंपनी ने दूसरी तिमाही के दौरान अपने कुल रेवेन्यू में 6.5 फीसद की वृद्धि हासिल की। कमाई का यह आंकड़ा 3,716.63 करोड़ रुपये रहा।

सेंट्रल बैंक का घाटा और बढ़ा
सार्वजनिक क्षेत्र के सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने भी तिमाही नतीजे घोषित कर दिए। बैंक ने चालू वर्ष की दूसरी तिमाही में 750 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा दिखाया है। फंसे कर्जो यानी एनपीए के लिए ज्यादा राशि का प्रावधान करने की वजह से घाटे में यह बढ़ोतरी हुई है। इस दौरान बैंक का सकल कर्ज के मुकाबले ग्रॉस एनपीए का अनुपात बढ़कर 17.27 फीसद हो गया।

ल्यूपिन के लाभ में तेज गिरावट
समीक्षाधीन तिमाही के दौरान दवा कंपनी ल्यूपिन का शुद्ध लाभ 31.3 फीसद गिरकर 455 करोड़ रुपये रह गया। बीते साल कंपनी ने 662 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी की कुल बिक्री भी आठ फीसद घटकर 3,874 करोड़ रुपये रही।