प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत 105 करोड़ की सहायता राशि जारी

0
38

जयपुर। कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने बताया कि राज्य के बाढ़ प्रभावित चारों जिलों पाली, सिरोही, जालोर और बाड़मेर में चालू खरीफ मौसम में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा कराने वाले किसानों को तत्कालिक राहत देने के लिए 105 करोड़ रूपये की राशि मध्यकालीन (मिड टर्म) सहायता के रूप में जारी की गई है। 

सैनी ने बताया कि फसल बीमा योजना के तहत पहली बार इस तरह अंतरिम राहत के रूप में इतनी बड़ी राशि जारी की गई है। उन्होंने बताया कि चारों बाढ़ प्रभावित जिलों में फसल खराबे का आंकलन कर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा करवाने वाले किसानों को तत्काल राशि जारी करने के निर्देश मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे द्वारा दिए गए थे।

डॉ. सैनी ने बताया कि पाली वा जालोर जिले के लिए 42 करोड़ रूपये, सिरोही के लिए 3 करोड़ 13 लाख रूपये और बाड़मेर जिले के लिए 60 करोड़ रूपये की राशि जारी की गई है। इससे इन चारों जिलों के 1580 गांवों के किसानों को लाभ होगा।

चालू खरीफ मौसम में इन चारों जिलों में 14 लाख 93 हजार हेक्टेयर में फसलों का बीमा किया गया था। जिसके तहत पाली व जालोर में एआईसी, सिरोही में यूनाईटेड इंडिया इंश्योरेंस कम्पनी व बाड़मेर में बजाज एलाइंज कम्पनी द्वारा कुल 10 लाख 62 हजार बीमा पॉलिसी जारी की गई थी। 

किसानों द्वारा इसके लिए 27 करोड़ 35 लाख रूपये का प्रीमियम जमा करवाया गया था। इन चारों जिलों में 22 से 30 जुलाई के बीच हुई अतिवृष्टि के कारण जल भराव से फसलों में खराबा हुआ था, जिससे इन जिलों में 1580 गांव प्रभावित हुए थे।

किसानों को राहत देने के उद्देश्य से चारों जिलों के जिला कलक्टर द्वारा कृषि, राजस्व व सम्बंधित बीमा कंपनियों के प्रतिनिधियों की टीम बनाकर सर्वे करवाया गया था। सैनी ने बताया कि विस्तृत  आंकलन के बाद मुआवजे की कुल राशि का निर्धारण कर उसका भुगतान किया जाएगा। जिसमें तत्काल भुगतान की जा रही राशि का समायोजन कर लिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना के इस प्रावधान को क्रियान्वित करने में राजस्थान ने सबसे पहली कार्रवाई की है। इन जिलों के किसानों को बीमित राशि की 25 प्रतिशत राशि का भुगतान किसानों के खातों में शीघ्र जमा करने के निर्देश इन जिलों में फसल बीमा करने वाली तीनों कम्पनियों को दिए गए हैं।