रसोई गैस सिलेंडर 1.50 रुपए महंगा, विमान ईंधन 6 फीसदी बढ़ा

0
33

उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार,  दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर का दाम अब 488.68 रुपये होगा।

नई दिल्ली। रसोई गैस सिलेंडर 1.50 रुपए महंगा हो गया है। विमान ईंधन एटीएम के दाम 6 फीसदी बढ़ गए हैं। अगस्त से जेट ईंधन कीमतों में यह लगातार तीसरी बढ़ोतरी है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल कीमतों में मजबूती की वजह से यहां भी एटीएफ के दाम बढ़े हैं। दिल्ली में अब एटीएफ का दाम 3,025 रुपये बढ़कर 53,045 रुपये प्रति किलोलीटर होगा। अभी तक इसकी कीमत 50,020 रुपए प्रति किलोलीटर है। इंडियन ऑइल कॉर्पोरेशन ने नए मूल्यों की जानकारी दी है।

इससे पहले 1 सितंबर को एटीएफ कीमतों में 4 फीसदी या 1,910 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की गई थी। इसके अलावा रसोई गैस (एलपीजी) के दाम 1.50 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ाए गए हैं। सरकार ने एलपीजी पर सब्सिडी समाप्त करने के लिए हर महीने इसकी कीमतों में बढ़ोतरी का फैसला किया है।

आईओसी ने कहा कि दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर का दाम अब 488.68 रुपये होगा। अभी तक यह 487.18 रुपये है। इससे पहले 1 सितंबर को एलपीजी के दाम 7 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ाए गए थे। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने 31 जुलाई को लोकसभा को सूचित किया था कि सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों को सब्सिडी वाले सिलेंडर का दाम हर महीने 4 रुपये बढ़ाने को कहा है, जिससे अगले साल मार्च तक सारी सब्सिडी समाप्त की जा सके।

1 अगस्त को सिलेंडर के दाम 2.31 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ाए गए थे। सूत्रों का कहना है कि इसी के मद्देनजर 1 सितंबर को पेट्रोलियम कंपनियों ने अधिक मूल्यवृद्धि की है। पिछले साल जुलाई से मासिक वृद्धि की योजना लागू होने के बाद से सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर का दाम 69.50 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ चुका है।

जून, 2016 में 14.2 किलोग्राम के एलपीजी सिलेंडर का मूल्य 419.18 रपये था। सरकार ने इससे पहले पेट्रोलियम कंपनियों को सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर का दाम 2 रुपये मासिक (वैट शामिल नहीं) बढ़ाने को कहा था। अब सब्सिडी को शून्य पर लाने के लिए इसे 4 रुपये कर दिया गया है।

बिना सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर का दाम भी डेढ़ रुपये बढ़ाकर 599 रुपये कर दिया गया है। इससे पहले 1 सितंबर को इसका दाम 73.5 रुपये बढ़ाकर 597.50 रुपये प्रति सिलेंडर किया गया था।