7 कंपनियों की ट्रेडिंग 18 अक्टूबर से बंद होगी

0
21

नोटिस में कहा गया, “दो लगातार तिमाहियों  के दौरान सेबी (डिपॉजिटरी एंड पार्टिसिपेंट्स) विनियमन, 1996 के नियमन 55ए के गैर-अनुपालन के चलते इन कंपनियों की प्रतिभूतियों में ट्रेडिंग 18 अक्टूबर 2017 से निलंबित कर दी जाएगी

नई दिल्ली। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज प्रतिभूतियों में सात कंपनियों के कारोबार को 18 अक्टूबर से निलंबित कर देगा। एक्सचेंज ऐसा इन कंपनियों की ओर से लगातार दो तिमाहियों के दौरान कुछ मानदंडों के गैर-अनुपालन के लिए करेगा।

इन सात कंपनियों में बॉयो ग्रीन पेपर्स, गुजरात कॉर्बन एंड इंडस्ट्रीज, मालवा कॉटन स्पिनिंग मिल्स, सूर्यचक्र पावर कार्पोरेशन, यूनीमर इंडिया, वीकेएस प्रोजक्ट और विसू इंटरनेशनल हैं। आज एक्सचेंज की ओर से जारी किए गए नोटिस में यह बात कही गई है।

नोटिस में कहा गया, “दो लगातार तिमाहियों (मार्च और जून 2017) के दौरान सेबी (डिपॉजिटरी एंड पार्टिसिपेंट्स) विनियमन, 1996 के नियमन 55ए के गैर-अनुपालन के चलते इन कंपनियों की प्रतिभूतियों में ट्रेडिंग 18 अक्टूबर 2017 से निलंबित कर दी जाएगी।

कोई भी कंपनी 12 अक्तूबर, 2017 को या उससे पहले सेबी (डिपॉजिटरी और प्रतिभागियों) के प्रावधानों का (एक्सचेंज की संतुष्टि के लिए) अनुपालन करती पाई जाती है तो इस कंपनी के लिए सिक्योरिटी (प्रतिभूतियों) में ट्रेडिंग को निलंबित नहीं किया जाएगा।”

वहीं एक्सचेंज ने आज इस नोटिस के साथ ही इन कंपनियों के प्रमोटर्स की शेयरहोल्डिंग को अगली नोटिस तक के लिए फ्रीज कर दिया है।
ARSS इंफ्रा के खिलाफ सेबी ने दिया फोरेंसिक ऑडिट का आदेश
बाजार नियामक सेबी ने एआरएसएस इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजक्ट्स के खिलाफ फोरेंसिक ऑडिट का आदेश दिया है। यह कंपनी उन 331 कंपनियों में शामिल है जो शेल कंपनी के शक के दायरे में थी। हालांकि नियामक ने इस पर लगाए गए ट्रेडिंग बैन को हटा दिया है।

नियामक ने स्टॉक एक्सचेंज को स्वतंत्र फोरेंसिक ऑडिटर नियुक्त करने का आदेश दिया है ताकि कई कारकों का प्रमाणिकता जैसे कि वित्तीय जानकारी में गड़बड़ी और कंपनी के फंड्स के गलत इस्तेमाल की जांच की जा सके।

मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स के इन 331 कंपनियों के शेल कंपनी होने के शक के चलते, सेबी ने इनमें 7 अगस्त, 2017 को ट्रेडिंग बैन कर दी थी। इसमें एआरएसएस इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट लिमिटेड शामिल थी।