खरीफ सीजन में उत्पादन 38 लाख टन कम रहने का अनुमान

0
20

कृषि मंत्रालय के अनुसार इस वर्ष मोटे अनाजों की पैदावार घटकर 3.14 करोड़ टन रहने का अनुमान है, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 3.27 करोड़ टन था

नई दिल्ली। देश में फसल वर्ष 2017-18 के दौरान खरीफ फसलों का उत्पादन 13.46 करोड़ टन होने का अनुमान है, जो पिछले साल की रिकॉर्ड पैदावार 13.85 करोड़ टन से 38 लाख टन कम है। हालांकि यह पिछले पांच साल के औसत उत्पादन 12.82 करोड़ टन से 64 लाख टन अधिक होगी।

कृषि मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार वर्ष 2017-18 के पहले पूर्वानुमान के मुताबिक इस वर्ष धान का उत्पादन 9.44 करोड़ टन रहेगा, जो पिछले साल की तुलना में 19 लाख टन कम है। पिछले वर्ष धान का रिकॉर्ड 9.63 करोड़ टन उत्पादन हुआ था।

कृषि मंत्रालय के अनुसार इस वर्ष मोटे अनाजों की पैदावार घटकर 3.14 करोड़ टन रहने का अनुमान है, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 3.27 करोड़ टन था। इसी अवधि में मक्का के 1.87 करोड़ टन पैदावार का अनुमान लगाया गया है। पिछले साल पांच लाख टन अधिक उत्पादन हुआ था।

अरहर एवं उड़द के रिकॉर्ड उत्पादन की संभावना
खरीफ सीजन में दलहन का उत्पादन 87 लाख टन रहने का अनुमान है, जो पिछले साल के रिकॉर्ड उत्पादन 94 लाख टन से सात लाख टन कम है। हालांकि यह पिछले पांच साल के औसत उत्पादन से 28 लाख टन अधिक है। अरहर का उत्पादन 39 लाख टन और उड़द का उत्पादन रिकॉर्ड 25 लाख टन रहने का अनुमान है।

मौजूदा वर्ष में तिलहन की कुल पैदावार 2.06 करोड़ टन होने का अनुमान है, जो पिछले साल के 2.24 करोड़ टन से 17 लाख टन कम है। इसमें सोयाबीन 1.22 करोड़ टन, मूंगफली 62 लाख टन और अरंडी का उत्पादन 14 लाख टन होगा।

जयपुर में एनसीडीईएक्स का चना डिलीवरी सेंटर
वायदा कारोबार प्लेटफार्म नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव एक्सचेंज (एनसीडीईएक्स) ने बीकानेर के बाद अब जयपुर में चना डिलीवरी सेंटर बना दिया है।  व्यापारी काफी लंबे समय से जयपुर डिलीवरी सेंटर खाेलने की मांग कर रहे थे।