जल्द ही पेमेंट बैंक का काम करेंगे अब पोस्टमैन

0
24

इसके जरिए बस और ट्रेनों के अनारक्षित टिकट भी ले सकते हैं, जो कैश पर ही निर्भर है

नई दिल्ली। पोस्टमैन को भूले तो नहीं हैं आप? क्या कहा बहुत दिनों से आपको उनकी जरूरत नहीं पड़ी। जल्द ही फिर पोस्टमैन आपके काम आएंगे। घर-घर चिट्ठी पहुंचाने वाले डाकिए अब जल्द चलते-फिरते पेमेंट बैंक के रूप में काम करेंगे। वे हाई टेक डिवाइस के जरिए कई वित्तीय लेनदेन को आपके घर आकर पूरा करेंगे।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक मार्च 2018 तक अपने ऑपरेशन को राष्ट्रीय स्तर पर लॉन्च करने की तैयारी में है। 1.5 लाख पोस्टमैन के लिए डिवाइस के कॉन्ट्रैक्ट की तैयारी की जा रही है।

माइक्रो एटीएम जैसे इस डिवाइस में बायॉमीट्रिक रीडर, प्रिंटर और डेबिट-क्रेडिट कार्ड रीडर जुड़ा होगा। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के चीफ एग्जिक्युटिव एपी सिंह ने बताया कि 2 लाख डिवाइस के लिए टेंडर तैयार है और इसे एक महीने के भीतर जारी किया जा सकता है।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के लिए बैकेंड सिस्टम तैयार करने के लिए HP Enterprise का चुनाव किया गया है। एपी सिंह ने कहा, ‘इसके पीछे विचार पेमेंट्स को बैंकों से जोड़ने का है। गैस, बिजली, मोबाइल, डीटीएच के बिलों और स्कूल फीस जैसे करीब एक दर्जन पेंमेंट की पहचान हमने की है, जिसे पेमेंट बैंक के जरिए पूरा सकते हैं।’

इंडिया पोस्ट एक ऐप पर भी काम कर रहा है, जिसके जरिए इन पेमेंट्स को अंजाम दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘हमें डिपॉजिट की बजाय पेमेंट पर फोकस करना है।’ रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से पेमेंट बैंकों को डिपॉजिट लेने की अनुमति नहीं है। रेवेन्यू के लिए इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक हर ट्रांजैक्शन पर फीस लेगा।

वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक पोस्ट ऑफिस में 35 करोड़ अकाउंट्स हैं और वे अगले 5 साल में 8 करोड़ परिवारों पर को पेमेंट बैंक से जोड़ेने पर फोकस करेंगे। इसके जरिए बस और ट्रेनों के अनारक्षित टिकट भी ले सकते हैं, जो कैश पर ही निर्भर है।  सिंह के मुताबिक सब्जी और फल खरीद जैसे छोटे बिल पेमेंट और डायरेक्ट बेनिफिट स्कीम भी रडार पर है।