बंद कंपनियों के पुराने रिकॉर्ड खंगाल रहा IT डिपार्टमेंट

0
30

कानूनन फ्रॉड की आशंका होने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बंद पड़ी कंपनियों के पुराने रिकॉर्ड की पड़ताल कर सकता है

मुंबई। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बंद हो चुकीं कंपनियों के पुराने रिकॉर्ड खंगाल रहा है। पहले उसने शायद ही कभी ऐसा कदम उठाया हो। ऐसी कई निजी कंपनियों के पूर्व निदेशकों (डायरेक्टर्स) को ऑफ़िशल लिक्विडेटर्स के साथ इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के नोटिस मिले हैं।

इससे इन कंपनियों को टैक्स की मांग किए जाने का डर सताने लगा है। पुरानी प्राइवेट कंपनियों को बंद करके नई कंपनियां खोलना काले धन को शिफ्ट करने का पुराना रास्ता रहा है, लेकिन ऐसी कई कंपनियां जेन्युइन बिजनेस के लिए भी खोली गई थीं, जो असफल रहीं और उन्हें बंद करना पड़ा।

इस मामले में जेन्युइन कंपनियां भी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के निशाने पर आ गई हैं। अब तक डिपार्टमेंट उन कंपनियों से दूर रहता आया था, जिसे वाइंडिंग अप प्रोसेस से पहले उसने नो-ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट इश्यू किया था। वैसे कानूनन फ्रॉड की आशंका होने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बंद पड़ी कंपनियों के पुराने रिकॉर्ड की पड़ताल कर सकता है।

एक सीनियर टैक्स अधिकारी ने बताया कि अगर डिपार्टमेंट गंभीरता से ऐसे मामलों की जांच करने लगे तो शायद ही कोई एनओसी जारी हो पाए। चोकसी ने कहा, ‘असेसिंग ऑफिसर्स को पुराने मामले खोलने का अधिकार है और वह इस तरह के नोटिस जारी कर सकता है।